Wed. Jul 8th, 2020

हमे मधुमेह रोग में कौन से फलो का सेवन करना चाहिए

मधुमेह यानी शुगर की बीमारी

मधुमेह बीमारी से परेशान रोगी अक्सर ऐसे फलों से दूरी बना लेते हैं, जिनमें चीनी की मात्रा अधिक होती हैं। मधुमेह के लोगों को मानना है कि इनसे ब्लड शुगर लेवल बढ़ता है मगर कई फल ऐसे होते हैं, जिनमे ब्लड सुगर कंट्रोल करने वाले तत्व जैसे विटामिन्स, मिनरल्स और फाइबर मौजूद होते हैं। वहीं इन फलों में पॉलीफेनोल नामक तत्व भी होता है, जो बल्ड शुगर लेवल को कंट्रोल में रखता है। इसलिए  मधुमेह रोगी को इस बात का जरूर पता होना चाहिए कि उसे किन फलों को खाना चाहिए और किन से दूरी बनानी चाहिए। मधुमेह के रोगियों को रेशेदार फल, जैसे तरबूज, खरबूजा, पपीता, सेब और स्ट्राबेरी आदि खाने चाहिए। इन फलों से रक्त शर्करा स्तर नियंत्रित होता है इसलिये इन्हें खाने से कोई नुकसान नहीं होता। मधुमेह रोगियों को फलो का रस नहीं पीना चाहिये क्योंकि एक तो इसमें चीनी डाली जाती है और दूसारा कि इसमें गूदा हटा दिया जाता है, जिससे शरीर को फाइबर नहीं मिल पाता। आज हम आपको कुछ ऐसे फलों के बारे में बताएंगे, जिन्हें मधुमेह रोगियों को खाने से फायदा मिलेगा।

सेब

मधुमेह के मरीजों के लिए सेब काफी अच्छा फल हैं।  सेब में ऐसा एंटीऑक्‍सीडेंट होता है जो कोलेस्‍ट्रॉल लेवल को कम करता है और रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढाता है। सेब टाइप 2 मधुमेह से बचाए रखता है। सेब में जीआई की मात्रा कम होती है और विटामिन ए, कैल्शियम और आयरन से भरपूर होता हैं।

बेरीज

जब आप कुछ मीठा खाना पसंद करते हैं तो ब्लूबेरी, रस बेरी और क्रैनबेरी जैसे फल आपके लिए सही हैं। ब्लूबेरी में हार्ट-हैल्दी फ्लैवोनोइड्स, फाइबर और एंथोकाइनिन होते जैसे तत्व होते हैं, जो टाइप 2 मधुमेह से बचाए रखते है। वहीं रस बेरी में विटामिनC, फाइबर, एंथोकाइनिन और एलाजिक एसिड होते हैं, जो इंसुलिन और ब्लड शुगर लेवल को कम करते हैं।

टमाटर

आप इसे एक सब्जी की तरह खा सकते हैं, लेकिन तकनीकि रूप से टमाटर भी एक फल हैं, जो मधुमेह के रोगियों के लिए काफी फायदेमंद माना जाता है। इसमें न केवल विटामिनC और A बल्कि पोटैशियम और हार्ट-हैल्दी एंटीऑक्सीडेंट मौजूद होते हैं। टमाटर में  कार्बोस में भी कम होता है। एक कप टमाटर में केवल में 32 कैलोरी होती है।

अनार

लोग अक्सर यह सवाल पूछते हैं की क्या मधुमेह में अनार खाना चाहिए? जो लोग मधुमेह के रोगी हैं उन्‍हें अपने लिए ऐसे फलों का चुनाव करना चाहिए जो मधुमेह के लक्षणों को कम करने में उनकी सहायता करते हैं। मधुमेह रोगियों के लिए अनार एक अच्‍छा विकल्‍प है। क्‍योंकि अनार में एंटीआक्सीडेंट की उच्‍च मात्रा होती है। जिसके कारण यह आपको फ्री रेडिकल्‍स के प्रभाव से बचाता है। इसके अलावा अनार में शक्तिशाली फाइटोकेमिकल यौगिक भी होते हैं जो मधुमेह के लक्षणों को कम करने में सहायक होते हैं। इस तरह से आप मधुमेह रोगियों के खाने के लिए फल की सूची में अनार को शामिल किया जाता है।

अमरुद

मधुमेह के लक्षणों को कम करने के लिए आपको विशेष रूप से मौसमी फलों पर ध्‍यान देना चाहिए। अमरूद भी उन्‍हीं मौसमी फलों में से एक है जिसे मधुमेह रोगियों के खाने के लिए सूची में शामिल किया जा सकता है। क्‍योंकि अमरूद कम ग्‍लासेमिक इंडेक्‍स वाले मधुमेह रोगियों के लिए एक बेहतरीन फल है। अमरूद में फाइबर की उच्‍च मात्रा होती है जो मधुमेह रोगियों में कब्ज की शिकायत को कम करने में मदद करते हैं। इसके साथ ही अमरूद में मौजूद पोषक तत्‍व और खनिज पदार्थ मधुमेह प्रकार 2 के विकास को भी कम करने में प्रभावी होते हैं।

संतरा

संतरे में पाए जाने वाले फलेवोनोल्‍स और फेनोलिए एसिड मधुमेह रोगियों को सुरक्षा दिलाने में प्रभावी होते हैं। यह खट्टा फल ग्‍लूकोज अपटेक को धीमा करते हैं साथ ही आंतों और यकृत के माध्‍यम से ग्‍लूकोज के संचलन या परिवहन को भी रोकते हैं। इसलिए मधुमेह रोगियों के खाने के लिए फल की सूची में प्रमुखता से संतरे को शामिल किया जाना चाहिए। यह आपके शरीर में मौजूद विषाक्‍त पदार्थों को दूर करने में अहम भूमिका निभाता है। इस तरह से मधुमेह रोगी अपने बेहत स्‍वास्‍थ्‍य के लिए स्‍थानीय और ताजे संतरे का उपयोग कर सकते हैं।

पपीता

क्‍या आप स्‍वाभाविक रूप से मधुमेह के लक्षणों को कम करना चाहते हैं। यदि ऐसा है तो मधुमेह रोगियों के खाने के लिए फल की सूची में पपीता को भी जगह दें। क्‍योंकि पपीता में प्राकृतिक एंटीऑक्‍सीडेंट होते हैं। जिसके कारण यह मधुमेह रोगियों के लिए बहुत ही लाभकारी माना जाता है। इसके अलावा मधुमेह रोगियों को कई प्रकार की स्वास्‍थ्‍य समस्‍याएं होने का भी खतरा रहता है। जिनमें अनियंत्रित रक्‍त शर्करा के स्‍तर के कारण दिल या तंत्रिका क्षति शामिल है। लेकिन इस प्रकार की समस्‍याओं को रोकने के लिए मधुमेह रोगी को अपने आहार में पपीता को शामिल करना चाहिए।

नाशपाती

मधुमेह रोगी के उपचार के लिए उन फलों का सेवन किया जाना चाहिए जिनमें ग्‍लूकोज की मात्रा कम होने के साथ ही विटामिन और फाइबर की उच्‍च मात्रा हो। मधुमेह रोगियों के खाने के लिए फल की सूची में ऐसे ही फलों को शामिल करना चाहिए। नाशपाती भी एक बेहतर विकल्‍प है क्‍योंकि इसमें विटामिन और फाइबर दोनों की उच्‍च मात्रा होती है।

जामुन

मधुमेह की सबसे प्रभावी दवा के रूप में जामुन का उपयोग किया जाता है। यदि आप मधुमेह रोगी के खाने के लिए फलों की सूची बना रहे हैं तो सबसे ऊपर जामुन का स्‍थान होना चाहिए। प्राचीन समय से ही आयुर्वेद और चिकित्‍सा पद्यति में मधुमेह के लक्षणों को कम करने के लिए जामुन का उपयोग किया जा रहा है। यह रक्‍त शर्करा के स्‍तर को नियंत्रित करने का सबसे अच्‍छा और प्रभावी उपाय होता है।

तरबूज

तरबूज में पोटेशियम की उच्‍च मात्रा होती है जिसके कारण यह गुर्दे की कार्य प्रणालीको बेहतर बनाता है। मधुमेह रोगी के खाने के लिए फल की सूची में तरबूज भी शामिल किया जाना चाहिए। क्‍योंकि इसका सेवन करने से यह रक्‍त में यूरिक एसिड के स्‍तर को कम करता है। जिससे आपके गुर्दे को नुकसान से बचाया जा सकता है विशेष रूप से जब आप मधुमेह रोगी हैं। इसके अलावा मधुमेह तंत्रिका क्षति का कारण भी बन सकता है। लेकिन तरबूज में पाया जाने वाला लाइकोपीन  वास्‍तव में इन प्रभावों को कम करने में सहायक होता है। इस तरह से मधुमेह रोगी के लिए तरबूज का सेवन करना लाभकारी होता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *